फौजी व दबंग नेता से सैकड़ो लोग परेशान

गोंडा। गोंडा के थाना उमरी बेगमगंज क्षेत्र के अंतर्गत एक फर्जी सपा नेता का मामला प्रकाश में आया है। जिसके खौफ से आज भी गांव वाले परेशान है। प्रदेश में शासन सत्ता तो बदल गई लेकिन इस सपा नेता की गुंडागर्दी अभी भी थमने का नाम नही ले रही है।

पूरा पूरा मामला थाना उमरी बेगमगंज के बरौली ग्राम सभा के बखरिया गांव का है। जहां बीते 13 जुलाई की शाम बखरिया निवासी श्रवण सिंह पुत्र उदय राज सिंह और उनके साथ जय प्रकाश सिंह व जगन्नाथ सिंह बोलेरो गाड़ी से बरौली से कुछ सामान लेकर बखरिया अपने घर की ओर आ रहे थे । तभी अचानक गांव के ही रहने वाले जसवंत सिंह पुत्र राम अचल सिंह, सुधीर सिंह, रणधीर सिंह, शुभम सिंह उर्फ लकी, ने पीड़ित श्रवन सिंह की गाड़ी रोक ली ।और गाड़ी में मौजूद तीनों लोगों के साथ मारपीट करनी शुरू कर दी । मारपीट के दौरान श्रवण को काफी चोटें भी आई । उसके बाद हवाई फाईरिंग करते हुए दबंग लोगों ने गाड़ी में मौजूद पैसे सामान व कुछ सोने के आभूषण लूटकर भाग गए। मौके पर पहुंचे लोगों ने उन्हें उपचार के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया। इस मामले की शिकायत श्रवण सिंह ने थाना उमरी बेगमगंज में की थी जिसमें पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आईपीसी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

पीड़ित ने बताया कि हाल ही में दबंगों ने मुझे झूठे मुकदमे में फंसाने के लिए खुद अपने आप पर गोली चला कर पुलिस को फोन किया और मुझे झूठे मुकदमे में फंसाने के लिए प्रशासन पर दबाव बनाया। लेकिन प्रशासन ने मामले की सच्चाई जानकर कोई कार्रवाई करने से मना कर दिया। उसके बाद इसके फौजी भाई ने एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया जिसमें उसने बताया है कि प्रशासन मेरी कोई मदद नहीं कर रहा है

दूसरा भाई शुभम सिंह उर्फ लकी अपने आप को समाजवादी पार्टी का नेता बताता है जबकि पार्टी द्वारा उसे कोई दायित्व नहीं सौंपा गया है सिर्फ व्हाट्सएप और फेसबुक पर कुछ नेताओं के साथ खींची हुई तस्वीरों को पोस्ट कर कर वह नेतागिरी करता है

पीड़ित के मुताबिक इन दबंग लोगों से पूरा गांव बुरी तरीके से परेशान है । आए दिन यह लोग लोगों को डराने धमकाने और झूठे मुकदमें में फंसाने के लिए नई नई साजिश रचते रहते हैं।
इससे पहले भी इनके खिलाफ कई आपराधिक मुकदमे थाना उमरी बेगमगंज में दर्ज है । पीड़ित श्रवण सिंह ने बताया कि इन लोगों के डर और खौफ से मैं अपना परिवार को लेकर गोंडा सिटी में रहता हूं। आए दिन मुझे मेरे भाई व मेरी माता जी को ये लोग जान से मारने की धमकी देते हैं । जिसकी शिकायत मैंने पूर्व में भी थाना उमरी बेगमगंज में की थी।
सवाल यह है कि योगी शासन में भी इस तरीके की दबंगई शासन और प्रशासन के लिए एक चेतावनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.