योगी की अधिकारियों को नसीहत, ‘काम में तेजी लाओ, मैं बार-बार निगरानी करने आऊंगा’

ग्रेटर नोएडा आकर तीनों प्राधिकरणों की समीक्षा बैठक करके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नजीर पेश की है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि काम में तेजी लाएं, वह बार-बार आएंगे और कार्यों की निगरानी करेंगे। प्राधिकरणों में किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जनता की समस्याओं को प्राथमिकता के साथ हल करें।

प्रदेश में पहली बार किसी प्राधिकरण में जाकर उनकी समीक्षा करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा पहुंचे। उन्होंने नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण की समीक्षा बैठक की। बैठक में मुख्यमंत्री ने तीनों प्राधिकरणों के कामों की जानकारी ली और उनकी प्रगति के बारे में पूछा। उन्होंने कहा कि वह बार-बार यहां आएंगे। सभी विकास कार्यों पर निगरानी रखी जाएगी। लापरवाही बरतने वालों पर कार्रवाई होगी। टाइम लाइन पर काम को पूरा करें : मुख्यमंत्री ने आगे के कामों के बारे में तीनों प्राधिकरणों के बारे में पूछा। उन्होंने सभी काम की टाइम लाइन तय करके समय पर पूरा करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि पूर्व में प्राधिकरणों में क्या होता रहा, यह किसी से छिपा नहीं है। अब वह सब नहीं चलेगा। आवंटियों को किसी तरह से परेशान नहीं किया जाए। उनकी समस्याओं को प्राथमिकता से निपटाया जाए।

शहर की सूरत बदलनी होगी : योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शहर की सूरत बदलनी होगी। इसके लिए हर काम समय पर करना होगा। जेवर एयरपोर्ट बनने जा रहा है। यहां पर निवेश बढ़ रहा है। उद्यमियों की समस्याओं को प्राथमिकता से निपटाया जाए। उन्हें सभी सुविधाएं दी जाएं। उनके लिए बेहतर माहौल तैयार किया जाए। नोएडा-ग्रेटर नोएडा प्रदेश की खिड़की है। इसी से प्रदेश की इमेज तय होती है।

बकायेदारों के खिलाफ कार्रवाई करें : समीक्षा बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने तीनों प्राधिकरणों के सीईओ से कहा कि बकाएदारों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करें। सभी से बकाया पैसा वसूल करें। प्राधिकरण अपना राजस्व बढ़ाएं। नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना प्राधिकरण का सिर्फ बिल्डरों पर 12 हजार करोड़ रुपये से अधिक का बकाया है। उन्होंने कहा कि जब तक आमदनी नहीं बढ़ाई जाएगी तब तक उनकी आर्थिक हालत नहीं सुधरेगी। इस पर विशेष ध्यान देने और इसकी निगरानी सीईओ खुद करें।

शाहबेरी के लोग मिले : शाहबेरी में निर्माण तोड़ने की आंशका के बाद शुक्रवार को यहां रहने वाले सैकड़ों लोगों ने प्राधिकरण कार्यालय पर पहुंचकर हंगामा किया। तीन लोगों के एक प्रतिनिधिमंडल को मुख्यमंत्री से मिलने के लिए प्राधिकरण कार्यालय भेजा गया। शुक्रवार को समीक्षा बैठक शुरू होने से पहले शाहबेरी के फ्लैट खरीदार ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय के बाहर गेट पर पहुंच गए और हंगामा शुरू कर दिया। वह मुख्यमंत्री से मुलाकात की मांग करने लगे।

मुआवजे की समस्याएं हल करने का भरोसा

ग्रेटर नोएडा (व.सं.) | समीक्षा बैठक के बाद किसानों का प्रतिनिधिमंडल भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला। किसानों ने लंबित आबादी, लीजबैक, मुआवजे आदि की मांगों को पूरा कराने की मांग की। मुख्यमंत्री ने किसानों को समस्याओं के समाधान का भरोसा दिया है।

किसानों के प्रतिनिधिमंडल में शामिल मनवीर भाटी, पवन खटाना, सुखबीर पहलवान आदि ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि उनकी जमीनें चली गईं, लेकिन उन्हें लाभ नहीं दिया गया। आबादी की जमीन के लिए उन्हें भटकना पड़ता है। किसान नेता मनवीर भाटी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने उनकी मांगों को ध्यानपूर्वक सुना है। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों के साथ है। उनकी मांगों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जाएगा। जो भी लंबित मांगें होंगी, उनको प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.