भाजपा के बूथ अध्यक्ष गए थे थाने में झाड़ू, कराया शौचालय भी साफ़, गम में हो गयी मोत

भाजपा के बूथ अध्यक्ष गए थे थाने में  झाड़ू, कराया शौचालय भी साफ़, गम में हो गयी मोत
डॉ  अनुज अग्रवाल की रिपोर्ट
मिर्जापुर- उत्तर प्रदेश में पुलिस कैसी निरंकुश हो चुकी है कि आम आदमी की तो छोडिये ,भाजपा के पदाधिकारियों को भी लगातार अपमानित कर रही है, ऐसा ही एक मामला मिर्जापुर में सामने आया है जहाँ बीजेपी (BJP) बूथ प्रभारी से थाने में झाड़ू लगवाने और शौचालय (Toilet) को साफ कराने का मामला अब राजनीतिक तूल पकड़ने लगा है. आरोप है कि बूथ अध्यक्ष कन्हैया लाल बिंद जब थाने में अपनी जमीनी विवाद की समस्या लेकर गए थे तो उनसे पुलिस ने थाने में झाड़ू लगवाई और थाने का शौचालय तक साफ़ करवाया, इससे बूथ अध्यक्ष इतने सदमे में आये कि उनकी मौत हो गयी. अब बीजेपी नेता अपनी ही सरकार में पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं. इस मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री और अपना दल से स्थानीय सांसद अनुप्रिया पटेल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर जांच कराने की मांग की है और अनुप्रिया पटेल के हस्तक्षेप के बाद ही महकमे के उच्चाधिकारी हरकत में आए जिसके बाद एसपी ने थाने का शौचालय साफ कराने वाले दारोगा को सोमवार को लाइन हाजिर कर दिया |  मुख्यमंत्री को भेजे शिकायती पत्र में बताया गया है कि जिगना रन्नौपट्टी गांव निवासी कन्हैयालाल बिंद बूथ प्रभारी थे। उन्होंने जमीन विवाद की थाने पर शिकायत की थी, लेकिन सुनवाई के बजाय उनसे थाना परिसर में झाड़ू लगवाने के बाद शौचालय साफ कराया गया । इससे वें सदमें में आ गए थे। सदमे में आए बूथ प्रभारी की मौत हो गयी है । थाने का शौचालय साफ कराए जाने से सदमे में भाजपा कार्यकर्ता की मौत का मामला भाजपा पदाधिकारियों ने एसपी के सामने उठाया तो एसपी ने दरोगा शिवानंद राय का जिगना से हलिया थाने पर स्थानांतरण कर दिया जिसके बाद मामला अनुप्रिया पटेल तक पहुंचा तो उन्होंने हस्तक्षेप किया तो एसपी ने दारोगा को लाइन हाजिर कर दिया। भाजपा पदाधिकारियों का कहना है कि जांच पूरी होने तक दारोगा को निलंबित किया जाए। वहीं सोमवार को पुलिस अधिकारियों ने मृतक के घर पहुंचकर कलमबंद बयान दर्ज किया। आक्रोशित भाजपाई विवादित दारोगा के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की मांग को लेकर अड़े हुए हैं। सांसद ने मुख्यमंत्री के एक पत्र भी लिखा है, इस मामले में मौत से पहले का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें मृतक कन्हैया विंद पुलिस पर आरोप लगा रहे हैं कि हिरासत में उनसे शौचालय साफ करवाया गया. हालांकि, पुलिस ने इन सभी आरोपों से इनकार किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.