Home » Archives by category » आलेख

देश-द्रोहियों के मताधिकार?

देश-द्रोहियों के मताधिकार?

चुनाव नजदीक आते ही विविध राजनैतिक दलों व नेताओं में वाकयुद्ध प्रारम्भ हो जाता है। एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते हुए अनेक बार, शब्दों की सीमाएं, न सिर्फ संसदीय मर्यादाएं…

लोक तंत्र के उपवन मे नोटा की अंहम भुमिका

लोक तंत्र के उपवन मे नोटा की अंहम भुमिका

नोटा का सोंटा भारतीय राजनीतिक व्यवस्था में संसद तथा विधान मंडलों के सदस्यों के चुनाव हेतु  शैक्षिक योग्यता का कोई प्रावधान न होने के कारण पूर्ण रूपेण अशिक्षित  व्यक्ति भी…

लाला लाजपत राय की 28 जनवरी को हुई थी मौत, साइमन कमीशन के विरुद्ध निकाला था मार्च

लाला लाजपत राय की 28 जनवरी को हुई थी मौत, साइमन कमीशन के विरुद्ध निकाला था मार्च

लाला लाजपत राय का जन्म 28 जनवरी 1865 को हुआ था। लाला लाजपत राय का स्वतंत्रता संग्राम से राजनीतिक तक का सफर बहुत ही पैचीदा रहा। देश के पंजाब केसरी…

आधुनिकता वर्सेज नग्नता

आधुनिकता वर्सेज नग्नता

हाँ..!!!! आज खुल कर बोल ही दूँ नारी प्रगतिवादिता पर…कंडोम और सैनिटरी पैड सभ्यता पर….कुछ दिन पहले एक पोस्ट आँखों से गुज़री थी, उस पोस्ट में महिलाओं को टैंपूनकी संरचना…

मुस्कान रिहेबलिटेशन फाउंडेशन ने किया शरद सम्मान 2015 का सफल आयोजन

मुस्कान रिहेबलिटेशन फाउंडेशन ने किया शरद सम्मान 2015 का सफल आयोजन

दुर्गा पूजा यूं तो सभी मनाते हैं परंतु बांगला भाषियों के लिए ये एक विशेष त्योहार माना जाता है इसी बात को ध्यान में रखते हुए मुस्कान रिहेबलिटेशन फाउंडेशन इस…

दुसरे ग्रह पर जीवन की तलाश

दुसरे ग्रह पर जीवन की तलाश

क्या  हम अकेले हैं दो सौ साल पहले इस सवाल का कुछ भी मतलब लगाया जा सकता था लेकिन पिछले सौ सालों में इसका एक ही अर्थ रह गया है।…

एक जुट हुआ जनता परिवार

एक जुट हुआ जनता परिवार

राजनीति में परिवार शब्द ठीक नहीं है मगर यह उनके साथ भी जोड़ा जाता है जो दूसरे के परिवारवाद का विरोध करते हैं। कांग्रेस के परिवारवाद की राजनीति के विरोध…

मिडिया वे शोशल मिडिया

मिडिया वे शोशल मिडिया

प्राचीन काल से ही सूचनाओं के आदान.प्रदान के लिए कई अनेक रोचक एवं अनोखे तरीके अपनाए जाते रहे हैं। आज वह एक कहानी की तरह लगती है। बीते दशकों में…

डॉ भीम राव अम्बेडकर

डॉ भीम राव अम्बेडकर

14 अप्रैल 2015 को बाबा साहेब डॉ  भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती मनाई जायेगी। वैसे तो डॉ अंबेडकर का कद और छवि समय के साथ और बढ़ी हैए लेकिन दलित…

पेट में गणित और विज्ञानं सीखेंगे बच्चे

पेट में गणित और विज्ञानं सीखेंगे बच्चे

कभी अर्जुन पुत्र अभिमन्यु ने गर्भ में चक्रव्यूह ता़ेडने की कला सीखी थीए आज मां के पेट में ही बच्चों की कोचिंग शुरू हो गई है। वे मैथ्स और साइंस…

Page 1 of 212