कोरोना : पीएम केयर्स फंड में दिल खोलकर लोग कर रहे दान, देखें लिस्ट किसने कितना पैसा दिया

देश भर में कोविड-19 के प्रकोप ने कई अतंर्निहित मानवीय गुणों और संक्रमण से प्रभावित लोगों की चिंता को सामने ला दिया है। लोग और संस्थाएं दिल खोलकर इसमें अपना योगदान दे रही हैं। इनमें कई नायाब दान भी आ रहे हैं।

पेटीएम दान करेगा 500 करोड़ रुपये
भारत के प्रमुख डिजिटल भुगतान और वित्तीय सेवा मंच-पेटीएम ने रविवार को कहा कि उसने पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये दान देने का लक्ष्य निधार्रित किया है। अपने यूजर्स को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में योगदान का आग्रह करते हुए कंपनी ने कहा कि पेटीएम वॉलेट, यूपीआई और पेटीएम बैंक डेबिट कार्ड का उपयोग कर पेटीएम के माध्यम से किए गए हर भुगतान के लिए, कंपनी फंड में 10 रुपये तक अतिरिक्त योगदान देगी।

151 करोड़ रुपये दान देगा रेलवे : पीयूष
केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस के खतरे से निपटने में मदद के लिए रेल मंत्रालय ”प्रधानमंत्री नागरिक सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष (पीएम केयर्स फंड)” को 151 करोड़ रुपये दान करेगा। रेलमंत्री गोयल ने कहा, ”प्रधानमंत्री के आह्वान के बाद मैं, सुरेश अंगदी एक महीने का वेतन दान करेंगे, 13 लाख रेलवे, पीएसयू कर्मचारी एक दिन का वेतन दान करेंगे, जो पीएम-केयर्स फंड में 151 करोड़ रुपये के बराबर होगा।”

अडाणी फाउंडेशन ने दिए 100 करोड़ :

अडाणी फाउंडेशन ने पीएम केयर्स फ़ंड में रुपये 100 करोड़ का योगदान दिया। यह जानकारी अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी ने ट्वीट के माध्यम से दिया COVID19 के खिलाफ भारत की लड़ाई के इन आपात परिस्थितियों में अडाणी फ़ाउंडेशन  समर्थन देने के लिए अतिरिक्त संसाधनों का योगदान भी देगा।

जिंदल समूह ने दिए 100 करोड़
जेएसडब्ल्यू समूह की कंपनियों ने कोराना से लड़ाई में 100 करोड़ रुपये पीएम केयर्स में दान करने की घोषणा की है। जेएसडब्ल्यू ओपी जिंदल समूह का हिस्सा है। कंपनी ने रविवार को एक विज्ञप्ति में कहा कि जब केंद्र और राज्य सरकारें इस महामारी से जूझ रही हैं, ऐसे में कपनी ने भी 100 करोड़ रुपये का अपना योगदान देने का निश्चय किया है।

सीबीएसई ने 21 लाख दिए
नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के कर्मचारियों ने पीएम केयर्स में 21 लाख रुपये का दान देने की घोषणा की है। सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने इसकी घोषणा की।

फारूख अब्दुल्ला ने श्रीनगर के अस्पतालों को दिए 1.5 करोड़
श्रीनगर। नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष और पूर्व जम्मू-कश्मीर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला ने कोरोना वायरस के खिलाफ संघर्ष में श्रीनगर के अस्पतालों को 1.5 करोड़ रुपये की राशि देने का ऐलान किया है। यह राशि श्रीनगर के तीन अस्पतालों में बराबर बांटी जाएगी। अब्दुल्ला ने शनिवार को भी अपनी सांसद निधि से एक करोड़ रुपये चार मेडिकल कॉलेजों को जारी किए थे।

धमेंद्र प्रधान एक माह का वेतन देंगे
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धमेंद्र प्रधान ने एक माह के वेतन प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में देने का ऐलान किया है। धमेंद्र प्रधान मे अपने बैंक प्रबंधक को पत्र लिखकर कहा है कि वह अपना एक माह का वेतन राहत कोष में देना चाहते हैं। इसलिए उनके खाते से एक लाख रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष में ट्रांसफर कर दिए जाए। इसके साथ पेट्रोलियम मंत्री ने कोरोना वायरस से निपटने की कोशिशों के लिए अपनी सांसद निधि से एक करोड़ रुपये खर्च करने का भी आग्रह किया है। इसके लिए उन्होंने  संसद भवन स्थित सांसद निधि समिति के अध्यक्ष को भी पत्र लिखा है।

फिल्म जगत की हस्तियों ने दान का संकल्प लिया 
निर्माता भूषण कुमार और अभिनेत्री सोनम कपूर समेत फिल्म जगत की कई हस्तियों ने कोरोना वायरस महामारी से मुकाबला करने के लिए विभिन्न राहत कोषों में पैसे दान करने का संकल्प लिया है।  फिल्म स्टूडियो टी-सीरीज़ के प्रमुख कुमार ने पीएम-केयर्स कोष में 11 करोड़ रुपये दान करने की बात कही है। कुमार ने महाराष्ट्र मुख्यमंत्री राहत कोष में भी एक करोड़ रुपये दान देने का संकल्प लिया। फिल्मकार आनंद एल. राय ने प्रधानमंत्री मोदी का ट्वीट साझा करते हुए लिखा कि इस वक्त लोगों को एक होकर दान देने की जरूरत है। टीवी पर आने वाले कार्यक्रमों की मेज़बानी करने वाले अभिनेता मनीष पॉल ने कहा कि वह पीएम केयर्स कोष में 20 लाख रुपये का दान देंगे। “कबीर सिंह” के निर्माता मुराद खेतानी ने कहा कि वह कोष में 25 लाख रुपये का योगदान देंगे। अभिनेता वरुण धवन, फिल्म निर्माता करण जौहर, रितिक रोशन, कपिल शर्मा, दक्षिण के अभिनेता महेश बाबू समेत कई हस्तियां पैसे दान देने के लिए आगे आए। इससे पहले शनिवार को बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने पीएम केयर्स में 25 करोड़ रुपये देने की बात कही थी।

सेना, रक्षा मंत्रालय के कर्मी एक दिन का वेतन देंगे
सेना, नौसेना और भारतीय वायुसेना के साथ-साथ रक्षा मंत्रालय के कर्मचारियों ने एक दिन का वेतन देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से लड़ने में मदद के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित राहत कोष में दान करने का फैसला किया है जो कुल मिलाकर करीब 500 करोड़ रुपये होगा।

राजनाथ एक माह का वेतन अलग से देंगे
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अलग से घोषणा की कि वह एक महीने का वेतन कोष में दान करेंगे। रक्षामंत्री ने कहा, ”मैंने अपना एक महीने का वेतन पीएम केयर्स फंड में दान करने का निर्णय किया है। आप भी इस कोष में योगदान कर सकते हैं और कोविड-19 के खतरे से लड़ने के भारत के संकल्प को मजबूत कर सकते हैं।

एक दिन का वेतन दान करेंगे सीबीआई अधिकारी
देश की प्रमुख जांच एजेंसी सीबीआई के अधिकारियों ने नवगठित प्रधानमंत्री नागरिक सहायता एवं आपात स्थिति राहत (पीएम-केयर्स) कोष में एक दिन का वेतन दान देने का फैसला किया है। एजेंसी के अधिकारियों ने बताया कि कोष का गठन होने के फौरन बाद यह फैसला लिया गया। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) में करीब 6,000 अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.