कोरोना से जंग: नोएडा और तमिलनाडु में बढ़ा जनता कर्फ्यू का समय, जानें कल कहां-कितने बजे तक रहेगा

कोरोना के खिलाफ जंग में आज पूरे देश में जनता कर्फ्यू लागू है। इस बीच तमिलनाडु और दिल्ली से सटे नोएडा में जनता कर्फ्यू के समय को बढ़ाने का फैसला लिया गया है। एक ओर जहां तमिलनाडु सरकार ने जनता कर्फ्यू को कल सुबह 5 बजे तक बढ़ाया है, वहीं नोएडा में भी इसकी अवधि को सोमवार सुबह 6 बजे तक कर दिया गया है। बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए पीएम मोदी ने आज यानी रविवार को जनता कर्फ्यू की अपील की थी, जिसका असर पूरे देश में देकने को मिल रहा है।

तमिलनाडु में जनता कर्फ्यू का कैसा रहा असर
देश भर में जनता कर्फ्यू के मद्देनजर तमिलनाडु में रविवार को जनजीवन थम सा गया और सड़कें, बस अड्डे और रेलवे स्टेशन सुनसान रहे तथा खुदरा दुकानों के शटर बंद रहे। हालांकि राज्य में महत्वपूर्ण सड़कों पर कुछ वाहन देखे गए लेकिन वे मुख्य रूप से निजी वाहन थे और उनकी संख्या बेहद कम थी।

सार्वजनिक एवं निजी बसें, ऑटो एवं टैक्सी राज्य के अधिकतर हिस्सों में सड़कों से नदारद रहीं। यहां जीएसटी रोड और अन्ना सलाई समेत सभी अहम सड़कें खाली रहीं जिन पर अमूमन भारी यातायात रहता है। सब्जियों, फलों एवं फूलों का कोयाम्बेडु बाजार बंद रहा। कोयंबटूर, तिरुचिरापल्ली और मदुरै समेत राज्य के अन्य शहरों एवं कस्बों में भी यही नजारा देखने को मिला।हालांकि स्थानीय निकाय द्वारा संचालित ‘अम्मा कैंटीन’ खुली रहीं जो कामगारों के लिए वरदान साबित हुई क्योंकि अन्य भोजनालय रविवार को बंद रहे। दूध का वितरण जैसी आवश्यक सेवाएं एवं अस्पताल खुले रहे।

31 मार्च तक रेलवे की यात्री सेवाएं बंद
कोरोना के कहर को देखते हुए रेलवे ने अप्रत्याशित कदम उठाते हुए अपनी सभी यात्री सेवाएं 22 मार्च की आधी रात से 31 मार्च की आधी रात तक बंद रखने की रविवार को घोषणा की। रेलवे ने कहा कि इस अवधि में केवल मालगाड़ियां चलेंगी। रेलवे ने अपनी कई ट्रेनें रद्द करके शुक्रवार को ही अपनी सेवाओं में कटौती कर दी थी, लेकिन उसने उन ट्रेनों को यात्रा जारी रखने की अनुमति दे दी थी जो पहले ही अपनी यात्रा शुरू कर चुकी थीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनता कर्फ्यू की अपील के मद्देनजर रविवार को कश्मीर में लोगों की आवाजाही तथा उनके एकत्र होने पर कर्फ्यू जैसी पाबंदियां लागू कर दी गईं। घाटी में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए एक तरह से बंद के हालात का लगातार चौथा दिन है। केवल सरकारी और आवश्यक सेवाओं के कर्मचारियों को पहचान संबंधी पत्र देखने के बाद और आपात मामलों में ही लोगों को आवाजाही की अनुमति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.