रेपिस्ट और बुढाना पुलिस की मिलीभगत से परेशान रेप पीड़िता

रेपिस्ट और बुढाना पुलिस की मिलीभगत से परेशान रेप पीड़िता 19 वर्षीया एक नवयुवती ने रेप की रिपोर्ट दर्ज ना होने पर अब सहारनपुर रेंज के डीआईजी से न्याय की गुहार लगाई है। पीड़िता एसएसपी के यहां भी हाजिरी लगा चुकी है लेकिन अब तक कोई इंसाफ पीड़िता को नहीं मिला है। रेप पीड़िता का कहना है कि आज इस बात को पूरा डेढ़ महीना हो गया लेकिन पुलिस ने ना तो आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की और ना ही आज तक घटनास्थल का दौरा किया बल्कि उसको बदचलन कहकर थाने से भगा दिया। पीड़िता का अब साफ कहना है कि अगर उसे इंसाफ नहीं मिलता है तो वह जनपद मुजफ्फरनगर में एसएसपी कार्यालय पर धरना देगी। उक्त मामला हालांकि डेढ़ महीने पुराना है लेकिन आज सोमवार के दिन पीड़िता का दर्द छलक पड़ा और रोने लगी। अगर पीड़िता की मानें तो बुढ़ाना पुलिस ने यह मामला डेढ़ माह से दबा रखा है। मिली जानकारी के मुताबिक पीड़िता रिहाना पुत्री इकरार खान (दोनों काल्पनिक नाम) ने मीडिया के सामने रोते हुए बताया कि वह बुढ़ाना कोतवाली क्षेत्र के गांव अलीपुर अटेरना की रहने वाली है। पिछले महीने की 5 जुलाई को वह घर पर अकेली थी। उसके पिता बाहर गये हुए थे और मां पड़ोस में  गई हुई थी। लगभग दोपहर के दो बजे उसके पास उनका रिश्तेदार फिरोज उर्फ जोनी पुत्र भूरा निवासी अमीनगर थाना तितावी जनपद मुजफ्फरनगर आया। फिरोज शुरू से ही उस पर गंदी नजर रखता था जबकि वो उसको भाई बिना नहीं बोलती थी। फिरोज उससे गलत काम करने के लिए बोलने लगा। उसने ये सब करने से इंकार किया और डर की वजह से बाहर की और भागने लगी तो उसने उसको पकड़ लिया और बात ना मानने पर जान से मारने की धमकी देने लगा। वह उसको जबरदस्ती कमरे के अंदर ले गया। उसने अपनी पेंट की जेब से तमंचा निकालकर उसकी कनपटी पर लगा दिया और कहने लगा कि अगर मेरी बात नहीं मानी तो वह उसको गोली मार देगा लेकिन वह इस धमकी से डरी नहीं। तब उसने उसको जबरदस्ती नीचे गिराकर उसके कपड़े फाडकर तमंचे की नोक पर उससे रेप किया। फिरोज उसको नग्नावस्था में छोड़कर भागने लगा और जाने से पहले पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करने पर हत्या करने की धमकी देकर फरार हो गया। आरोपी फिरोज के जाते ही घर पर उसकी मां आ गई। जब उसकी मां ने उसको नग्नावस्था में देखा तो पूछने पर उसने अपनी मां को पूरी बात बताई। बताया जाता है कि अगले दिन जब वह अपने फटे हुए कपड़े लेकर बुढ़ाना कोतवाली गई तो पुलिस ने उससे तहरीर लेकर उल्टे उसको ही बदचलन कहकर थाने से भगा दिया। पुलिस न आज तक उसकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की और ना ही घटनास्थल पर आई। वो अपनी मां के साथ थाने के चक्कर काट रही है लेकिन पुलिस उसकी कोई मदद नहीं कर रही हैं। पुलिस ने आरोपी को एक दिन थाने बुलाकर उससे मोटी रकम लेकर उसको क्लीन चिट दे दी। पीड़िता ने बताया कि गांव का प्रधान सलीम भी आरोपी का रिश्तेदार है। उन्होंने प्रधान को चुनाव में वोट नहीं दी थी। तभी से प्रधान भी उनसे रंजिश रखता है। प्रधान ने ही आरोपी फिरोज की बुढ़ाना पुलिस से सेटिंग कराकर पुलिस से उसको बदचलन का खिताब दिलवाया है। रेप पीड़िता का कहना है कि बुढ़ाना कोतवाली का एक दारोगा घटना से आठ दिन बाद गांव में आया था और उसके एक कागज पर अंगूठे के निशान लेकर उसको इंसाफ दिलवाने का वादा किया था। पीड़िता ने यह भी बताया कि इस घटना से उससे उसका ताऊ, चाचा व दादी नफरत करने लगे हैं। पीड़िता ने अब डीआईजी से न्याय की गुहार लगाई है। मदद ना होने पर रेप पीड़िता ने जल्द ही एसएसपी कार्यालय पर धरना देने की बात भी कही है। इस मामले में जब बुढ़ाना कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक कुशलपाल सिंह से बात करनी चाही तो उनसे संपर्क नहीं हो सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.